Monday, 4/7/2022 | 2:09 UTC+0
Breaking News, Headlines, Sports, Health, Business, Cricket, Entertainment

8 साल की यह बच्ची। रेलवे स्टेशन पर पढ़ती है…

Divya-Image

घर में छाया है अँधेरा पर फिर भी है पढने का जज्बा। कुछ ऐसी ही नज़ारा यूपी के जालौन जिले में देखने को मिला है। यहां एक बच्‍ची रोजाना रेलवे स्‍टेशन पर आकर अपनी कॉपी किताब खोलकर पढने के लिए बैठ जाती है। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद वो वापस घर चली जाती है। कई बार तो वह स्‍टेशन पर ही सो जाती है।
पढ़ने के स्‍कूल से तो मिला ड्रेस-किताब लेकिन झोपड़ी में नहीं मिली लाइट

  • जालौन जिले के तिवारी अपने परिवार के साथ उरई रेलवे स्‍टेशन के पास एक झोपड़ी में रहते हैं।
  • इनकी 6 साल की बेटी है दिव्या जो प्राइमरी स्कूल में क्‍लास 2 में पढ़ती है।
  • दिव्‍या की मां मोनिका ट्रेनों में भीख मांगकर पेट पालती हैं, जबकि तिवारी मजदूरी करते हैं।
  • गरीबी के चलते बड़ी मुश्किल से 2 वक्‍त की रोटी की व्यवस्था हो पति है। झोपड़ी में बिजली कनेक्शन भी नहीं है।
  • फिर भी दिव्‍या के पढ़ने-लिखने के शौक के प्रति रूचि को देखते हुए उसका सरकारी स्कूल में एडमिशन कराया है।
  • स्कूल वालो ने उसे किताबें और ड्रेस तो दे दी है, पर झोपड़ी में बिजली कनेक्शन ना होने के कारण वो पढाई नहीं कर पाती थी ।
  • इसलिए दिव्‍या पास के स्‍टेशन पर चली जाती है ताकि वह रोशनी में बैठकर पढ़ाई कर सके।
  • दिव्‍या अधिकतर स्‍कूल ड्रेस में ही होती है। लोगों के आना जाना लगा रहता है । रेलवे का अनाउंसमेंट और ट्रेन का शोर भी होता रहता है।
  • लेकिन दिव्‍या बिना कहीं ध्यान दिए जमीन पर कॉपी-किताब फैलाए पढ़ती रहती है।

दिव्या बनना चाहती है अफसर

  • दिव्या को अभी तक ये नहीं पता है कि उसे क्या बनना है।
  • पर दिव्या कि मां मोनिका बताती हैं, दिव्‍या कभी-कभी कहती है कि वह अफसर बनेगी, लेकिन कौन सी अफसर बनेगी, ये नहीं पता।
  • रेलवे स्टेशन पर स्‍वीट की दुकान लगाने वाले मशहूर शर्मा बताते हैं, ऐसा जज्बा और पढाई के प्रति लगन कम ही लोगो में देखने को मिलता है।
Advertisment

POST YOUR COMMENTS

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2020 News18Network | Derben Clove by News18Network Our Partner Indian Business And Mobile Technology