Monday, 28/11/2022 | 6:07 UTC+0
Breaking News, Headlines, Sports, Health, Business, Cricket, Entertainment

आक्रामक हुई भाजपा, छेड़ा जनस्वाभिमान अभियान अभियान

bjp-jnu-protest

जेएनयू विवाद में मीडियाकर्मियों की पिटाई और साथ ही अदालत में वकीलों की हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट के कड़ी रुख अपनाने से भाजपासरकार चिंतित तो है, मगर पार्टी की सोच इस मामले में बैकफुट पर आने के बजाये आक्रामक रुख अपनाने का है। पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि जेएनयू की घटना को सीधे राष्ट्रवाद से जोड़ने पर सियासी बढ़त हासिल की जा सकती है। इसी कारण से पार्टी ने जहां गुरुवार से तीन दिवसीय जनस्वाभिमान अभियान छेड़ने की घोषणा की है, वहीं दूसरी ओर संसद के बजट सत्र में भी इस मामले में विपक्ष के खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाने का निर्णय किया है। मंगलवार से आरम्भ हो रहे इस रणनीति के तहत बजट सत्र में स्वयं पार्टी ही इस घटना में चर्चा कराने का नोटिस देगी। हालांकि इस दौरान पार्टी ने अपने प्रवक्ताओं को टीवी चैनलों या मिडिया की बहसों और प्रेस कांफ्रेंसों में जेएनयू में लगे राष्ट्रविरोधी नारे पर मजबूती से अपना विरोध जताने का आदेश दिया है।

इस मामले में पार्टी के प्रवक्ता देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किये गए छात्र नेता कन्हैया कुमार की 9 फरवरी को कार्यक्रम के बीच में लगे भारत विरोधी नारे की स्वीकारोक्ति को भी मुद्दा बनाएगी। जेएनयू घटना में बढ़ते सियासी विवाद के बीच भाजपा सरकार अपने रुख में नरमी लाने के बदले सख्त तेवर अपनाएगी। दरअसल पार्टी का आंतरिक आकलन है कि विश्वविद्यालय में लगे देशविरोधी और आतंकी अफजल गुरू के समर्थन में नारे से एक बड़ा तबका सरकार की ओर से की गई कार्रवाई के समर्थन में है। हालांकि इस मामले में अन्य और पक्ष जुड़े हैं, लेकिन इस मामले को पार्टी ने सीधे-सीधे राष्ट्रवाद से एकजुट करने के लिए पूरे मुद्दे को भारत विरोधी नारों तक सीमित रखना चाहती है।

पार्टी के रणनीतिकारों ने इसी वजह से ‘जन स्वाभिमान अभियान’ छेड़ने का निर्णय किया है। पार्टी कई माध्यमों से इस अभियान के तहत जेएनयू में लगाये गए भारत विरोधी नारों को पूरी ताकत से प्रचारित करेगी। इस घटना में विपक्ष की बजट सत्र में तीखे तेवर का जवाब भी पार्टी आक्रामक तरीके में देगी। इस मामले में पार्टी ने खुद पहल कर संसद के दोनों सदनों में चर्चा का नोटिस देने का फैसला किया है। सूत्रों के मुताबिक, इस तरह से विपक्ष यह सियासी संदेश नहीं दे पाएगा कि सरकार और भाजपा पार्टी इस घटना में बहस से न केवल भागना चाहती है, जबकि बैकफुट पर भी है। भाजपा सरकार 18,19,20 फरवरी को देश भर में जनस्वाभिमान अभियान नाम से अभियान चलाएगी।

Advertisment

POST YOUR COMMENTS

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2022-23 News18Network | Derben Clove by News18Network Our Partner Indian Business And Mobile Technology